एवोकैडो तेल के फायदे, उपयोग एवं नुकसान | Avocado Oil Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

वैसे तो बाजार में तमाम किस्मों के तेल मौजूद हैं जिसका इस्तेमाल कई प्रकार से किया जाता है। और हर एक तेल की अपनी कुछ न कुछ स्पेशलिटी या फिर यूं कहे की खासियत होती है। पर जब खाद पदार्थों में इस्तेमाल होने वाले तेलों का नाम आता है तो सबसे पहला नाम सरसो के तेल का होता है। 

क्योंकि अधिकांश लोगों द्वारा खाना बनाने में एवं खाद पदार्थों में मिलाने के लिए मुख्य रूप से सरसो का तेल प्रयोग में लाया जाता है पर क्या आप जानते है की एक ऐसा तेल भी बाजार में उपलब्ध है। जिसका इस्तेमाल खाद पदार्थों में स्वाद को बढ़ाने के लिए तो किया ही जाता पर साथ ही इसमें कई ऐसे गुण शामिल होते हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

अब आप सोच रहे होंगे की आखिर वो गुणकारी एवं लाभकारी तेल है कौन सा। तो आपकी जिज्ञासा को पूरा करने के लिए आपको बता दें की इस तेल नाम एवोकैडो आयल है। दरसल, एवो कैडो एक प्रकार का फल होता है जिसका सेवन तो अच्छा माना ही जाता है पर इस फल के द्वारा इस तेल को भी बनाया जाता है जिसका उपयोग बहुत लाभकारी सिद्ध होता है। तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से एवो कैडो आयल के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे। तो चलिए शुरू करते है।

एवोकैडो तेल के फायदे

एवोकैडो फल के गुणों वाले एवोकैडो तेल के विभिन्न फायदे देखे जा सकते हैं जो इस प्रकार हैं। –

1) गठिया रोग के लिए –

गठिया

एवोकैडो तेल का इस्तेमाल गठिया के रोगी को बहुत फ़ायदा पहुँचा सकता है और उनके लिए एक औषधि की तरह कार्य कर सकता है। एक एवोकैडो आयल में ऐनबालिक, एंटी-केटाबोलिक एवं एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते है जो गठिया के मरीज़ के लिए बहुत मददगार साबित होते है। तो यदि आप या आपका कोई करीबी इस रोग से पीड़ित है तो इसका उपयोग बहुत फायदेमंद हो सकता है। 

2) स्वस्थ आँखों के लिए –

aaankh

आँखों की समस्या से बचने के लिए आप एवोकैडो आयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। आँखें हमारे शरीर का वो विशेष अंग है जिसकी मदद से हम इस खूबसूरत दुनिया को देख पाते हैं और ये स्वस्थ रहे इसलिए आपको आँखों का ख्याल रखना चाहिए।

प्रोटीन एवं विटामि से भरपूर खाद पदार्थों को अपने आहार में शुमार करना चाहिए। एवोकैडो आयल में ल्युटिन नामक कम्पाउंड शामिल होता है जिसे आँखों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। ये आपको आँखों के कई रोगों से बचाता है। 

3) कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में सहायक –

how-to-get-rid-cholesterol_202109217777

कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना कई रोगों को न्यौता दे सकता है और स्वास्थ्य पर प्रभाव डाल सकता है इसलिए इस समस्या को बिल्कुल भी नज़रंदाज़ न करें। कालेस्ट्राल को आपके शरीर से कम करने में एवोकैडो का तेल बहुत असरदार हो सकता है। इस तेल में मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड एवं एंटीऑक्सीडेंट जैसे गुण पाए जाते हैं जो शरीर में कालेस्ट्राल को नियंत्रित करने में बहुत मदद करते हैं। 

तो यदि आपको भी कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो आप अपने खान पान का बहुत सोच समझ कर चुनाव करे और पौष्टिक आहार ही ले जो एक बेहतर स्वास्थ्य की ज़रूरत है और साथ ही आप एवोकैडो के तेल का भी इस्तेमाल करके इसके सकारात्मक परिणाम देख सकते हैं। 

4) बेदाग त्वचा के लिए –

आजकल कम उम्र में ही त्वचा सम्बन्धि समस्या देखने को मिल रही है। कील, मुहाँसो एवं काले दाग की समस्या से अधिकांश युवा परेशान है। जिसकी वजह कही न कही तनाव एवं पौष्टिक तत्वों की सही मात्रा उनके शरीर को न मिल पाना है। 

आपको बता दें की एवोकैडो तेल एक ऐसा गुणकारारी आयल है जिससे त्वचा संबंधी समस्या से बहुअ हद तक राहत मिल सकता है। दरअसल, एवोकाडो तेल में एंटीइंफ्लेमेटरी, बीटा-सिटोस्टेरोल और बीटा-कैरोटीन जैसे रासायनिक यौगिक शामिल होते हैं जो त्वचा की सभी समस्याओं को दूर रखते है और आप की त्वचा स्वस्थ एवं ग्लोइंग रहती है। 

5) साँसों की दुर्गन्ध से राहत एवं मसूड़ों को रखे स्वस्थ –

स्वाद एवं लज़ीज़ व्यन्जों का आनन्द लेने के लिए मसूड़ों एवं दातों का मजबूत एव स्वस्थ रहना बहुत ज़रूरी बन जाता है अगर दातों या मसूड़ों में की समस्या है तो भोजन चाहे लाख स्वादिष्ट क्यों न आप वो लुत्फ़ नही उठा सकते हैं। इसलिए इन दोनों को हमेशा स्वस्थ रखने की कोशिश करें, ताकि आप स्वादिष्ट पकवानों भरपूर लुत्फ़ उठा सकें। 

एवोकैडो का तेल मसूड़ों को स्वस्थ रखने में बहुत कारगर है साथ ही मुह से आने वाले दुर्गंध से भी ये तेल राहत दिलाता है। एवोकैडो आयल में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट और इम्यूनोरेग्यूलेटरी (Immunoregulatory) गुणों की पर्याप्त मात्रा शामिल होती है जो दातों के सड़न की समस्या को दूर रखते हैं मसूड़ों को स्वस्थ रखते हैं और साथ ही साँसों की बदबू को भी दूर करने में बहुत मदद करते हैं। तो अगर आपके साथ भी इनमे से कोई समस्या होती है तो एवोकैडो तेल आपके लिए एक अच्छा विकल्प माना जा सकता है। 

6) मजबूत बालों के लिए –

आजकल बालों की समस्या से हर दूसरा व्यक्ति परेशान है, किसी के बाल समय से पहले सफेद हो रहे, किसी के टूट रहे हैं तो किसी के बालों को विकास में दिक्कत है। बालों में पाए जाने वाली समस्याएं तो तमाम है जिनसे बचने के लिए हमें अपने आहार पर विशेष रूप से ध्यान देना चाहिये और पौष्टिक तत्वों का सेवन करना चाहिए। 

आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे की एक रिसर्च में ये बात पता सामने आई है की एवोकाडो तेल के अर्क में अमीनो एसिड पाया जाता है जो बालों को गिरने से बचाता है एवं बालों को मजबूती प्रदान करता है। हम कि प्रकार का भोजन खाते हैं इसका असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है, खाद पदार्थों फ़ायदा पहुँचाने के लिए भी जाने जाते है और ये आपको नुकसान भी पहुँचा सकते है। इसलिए हमारा स्वास्थ्य इस बात पर निर्भर करता है की हम क्या खाते और पीते हैं। 

एवोकैडो तेल के उपयोग –

एवोकैडो तेल हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है और ये किन किन बिमारियों से हमारा बचाव कर सकता है इस बात की पुष्टि तो अब तक हो चुकी होगी लेकिन क्या आप जानते है की एवोकैडो आयल किस खाद पदार्थ में और किस तरह से उपयोग में लाया जाता है। 

एवोकैडो तेल को उपयोग में लाने के तरीके कुछ इस प्रकार हैं। –

  1. स्वादिष्ट मिटाइयाँ एवं हलवा बनाते समय एवोकैडो तेल को उपयोग में लाया जा सकता है इसके उपयोग से पकवानों का स्वाद और खुशबू और अधिक बढ़ जाती है।
  2. चीज को ग्रिल्ड करने के लिए एवोकैडो तेल का उपयोग किया जाता है।
  3. सेनवीचेस्, बर्गर एवं ब्रेड जैसे स्नेक्स पर बटर की जगह एवोकैडो आयल का इस्तेमाल करना भी अच्छा हो सकता है।
  4. मेयोनिज को हम सब बड़े चाव से खाते है पर क्या आपको पता है इसे बनाने में एवोकैडो तेल का उपयोग भी होता है जो स्वाद को अत्यंत बढ़ा देता है। 
  5. स्वादिष्ट पकवान बनाने में साधारण तेल के स्थान पर एवोकैडो तेल का भी उपयोग किया जा सकता है।
  6. सलाद में इसका उपयोग ड्रेसिंग के लिए एवं स्वाद में वृद्धि लाने के लिए किया जाता है, इस तेल का उपयोग ज्यादतर शेफस् के द्वारा किया जाता है।
  7. घरों के मुकाबले इस तेल का उपयोग अधिकतर रेस्टुरेंट व कैफे आदि में होता है।
  8. आचार एवं चटनी बनाने मे भी तेल का इस्तेमाल होता है, तो तो आप आचार आदि में एवोकैडो के तेल का उपयोग कर सकते हैं, ये सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। 
  9. चीज़ टोस्ट या ब्रेड पर भी एवोकैडो आयल का उपयोग किया जा सकता है।
  10. एवोकैडो का तेल बालों के विकास के लिए भी उपयोग में लाया जाता है।

अब तक आपने एवोकैडो के तेल को इस्तेमाल करने का तरीका एवं इन्हे किन किन चीजों में शामिल करना चाहिए ये विस्तार से जान लिया होगा, पर ध्यान रहे की इसका उपयोग एक या दो चम्मच से अधिक न करे और साथ ही अगर आप इसका सेवन नियमित रूप से करना चाहते हैं तो एक बार डाक्टर से राय अवश्य ले। 

एवोकैडो तेल के नुकसान –

प्रत्येक पदार्थ कुछ लाभ एवं कुछ हानियों के साथ आता है साथ आता है जिसका हमे पता होना चाहिए ताकि उसका प्रयोग हमारे लिए नुकसानदायक न हो। हालांकि एवोकैडो आयल से क्या क्या नुकसान हो सकते हैं इस बात की पुष्टि वैज्ञानिकों द्वारा नही की गई है लेकिन आमतौर पर इसके अधिक प्रयोग से आपकी सेहत को क्या क्या नुकसान पहुँच सकता है ये जानना आवश्यक है। तो आइये जानते हैं एवोकैडो आयल हमारे स्वास्थ्य के लिए किन स्थियों में नुकसानदेह हो सकता है। –

  1. जिस व्यक्ति को एवोकैडो फल से एलर्जी की समस्या हो उन्हे एवोकैडो आयल के इस्तेमाल से परहेज करना चाहिए।
  2. एवोकैडो तेल को अगर अधिक मात्रा में खाने मे मिलाया जाता है तो ये स्वास्थ्य को नुकसान पहुँचा सकता है।
  3. संवेदनशील त्वचा वाले व्यक्ति को इस तेल का इस्तेमाल त्वचा के किसी भी हिस्से पर नही करना चाहिए, अन्यथा ये त्वचा के लिए हानिकारक हो सकता है एवं त्वचा के उन हिस्सों को प्रभावित कर सकता है। 

निष्कर्ष –

आज इस आर्टिकल में आपने एक नये तेल के बारे में विस्तृत रूप से जाना होगा जो कर गुणों से भरपूर होता है और अनेक फायदों के साथ आता है। आप इस आयल को प्रयोग करने से पूर्व डाक्टर से भी सलाह ले सकते हैं। हम उम्मीद करते है की आपको हमारा आज का ये आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा और यह आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। ऐसे ही अन्य नई नई जानकारी हासिल करने के लिए जुड़े रहिये हमारे साथ।

Leave a Comment