पनीर फूल के भीतर है पोषक तत्वों के गुणों की भरमार, जाने इसके फायदे, उपयोग एवं नुकसान –

फूलों से प्रकृति की सुंदरता बरकरार रहती है, फूल प्रकृति की एक बहुत खूबसूरत देन है। एक ओर जहाँ फूलों की मौजूदगी से उपवन व धरती खिल उठते हैं वही दूसरी ओर ये बहुत सी आयुर्वेदिक दवा बनाने में भी काम आती है। मानव जीवन में पेड़ पौधे एवं फूल और पत्तियाँ बहुत महत्व रखती है। 

कई ऐसे भी फूल आते हैं जिनके सेवन से अनेक रोग दूर होते हैं पर क्या आपको पता है एक ऐसा भी फूल है जो जिसका नाम एक बहुत ही स्वादिष्ट खाद पदार्थ के नाम से जुड़ा है, लाजमी है की उसका नाम सुनते ही आपकी आँखों के सामने उसके द्वारा तैयार होने वाले कई स्वादिष्ट पकवान आयेंगे। 

दरसल, हम बात कर रहे हैं पनीर की और जिस फूल के बारे में हम बात करने वाले हैं उसका नाम ही पनीर का फूल है। हो सकता है की ये आपके लिए एक नया नाम हो क्योंकि ये अन्य फूलों की तरह उतना मशहूर नही है और उतनी आसानी से मिलता भी नही। 

पनीर का फूल देखने में सोयाबीन की तरह लगता है, जब ये कच्चा रहता हैं तो हरे रंग में नजर आता है और पकने के बाद इसका रंग हल्का भूरा हो जाता। ये तो रही पनीर के फूल के स्वरूप की बातें पर इसके फायदे प्राप्त करने के लिए और इसके बारे में और विस्तार से जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। 

पनीर के फूल के फायदे –

फूलों के भी अनगिनत फायदे होते हैं जिनमें से एक है पनीर का फूल जो कई गंभीर बीमारी होने पर प्रयोग में लाया जाता है, इसके सेवन से कई रोग दूर होते हैं तो आइये जानते हैं किन किन स्थितियों में पनीर के फूल का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। 

1. कील व मुहासों से पाए छुटकारा –

आजकल मुहासों व दाग धब्बों की समस्या बहुत आम हो चुकी है हर युवा इस समस्या से परेशान है, इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए वो तमाम ब्यूटी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं लिहाजा इससे कुछ फ़ायदा नहीं होता। इसलिए ऐसी अवस्था में कुछ प्राकृतिक चीजों का प्रयोग करके देख सकते हैं। पनीर का फूल प्रकृति का एक बहुत लाभकारी उपहार है जिसके पानी का इस्तेमाल यदि रोजाना किया जाए तो चेहरे से दाग धब्बे व मुहासे मिटाये जा सकते हैं। 

2. नींद न आने में सहायक –

बहुत से लोगों को अनिद्रा की समस्या रहती है जिससे वे काफी परेशान रहते हैं। उनकी नींद सही ढंग से पूरी नहीं हा पाती है ऐसी अवस्था में आपको पोषक तत्वों से भरपूर भोजन को अपने आहार में शामिल करना चाहिए।

जिनमें से एक नाम पनीर के फूल का भी आता हैहै, पनीर के फूल में ऐसे कई आवश्यक तत्व शामिल होते है जिसके सेवन से आपकी नींद में कोई खलल नहीं पड़ती और आपको अच्छी नींद आती है। 

3. वजन कम करने के लिए –

बढ़ता वजन एक समस्या का कारण बन सकता है, कोई भी व्यक्ति अधिक वजन का भार नही ढोना चाहता बल्कि वो फीट दिखना चाहता है पर अक्सर खान पान पर ध्यान न देने से हमारे वजन में वृद्धि हो जाती है। पर इसका उपचार भी सही खाद पदार्थों में मिलता है। 

दरसल यहाँ हम बात कर रहे हैं पनीर के फूल के बारे में जो बढ़ते वजन को रोकने में  बहुत फायदेमंद होता है। अगर ओबेसिटी से परेशान व्यक्ति पनीर के फूल का इस्तेमाल करता है तो ये उसके लिए बेनेफिशियल हो सकता है। 

4. मधुमेह के रोगी के लिए रामबाण की तरह कार्य करता है पनीर का फूल –

मधुमेह से बचाव के लिए पनीर का फूल एक चमत्कारीक जड़ी बूटी के समान हो सकता है। मधुमेह एक ऐसा रोग है जो अपने साथ अन्य रोगों को भी दावत देता है इसलिए मधुमेह के रोगी को खान पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए ताकि उनकी सेहत ठीक रहे।

एक रिसर्च में ये बात सामने आई है की मधुमेह के रोगी के लिए पनीर का फूल एक औषधि के रूप में कार्य करता है और शुगर नियंत्रित करने में काफी मदद करता है। 

5. अस्थमा रोग का इलाज है पनीर के फूल में –

अस्थमा रोग का सरल भाषा में अर्थ है श्वास सम्बधित रोग। आयुर्वेद के मुताबित अस्थमा रोग होने के मुख्य कारण वात एवं कफ है जिसके कारण व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ होती है और उसका सांस भी फुलता है। 

इस रोग को हल्के में नही लेना चाहिए और तुरन्त डाक्टर से इसका इलाज कराना चाहिये। ऐसा माना जाता है की पनीर का फूल का फूल अगर अस्थमा के मरीज़ को दिया जाए तो ये उसके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है हालांकि आपको चिकित्सक द्वारा दी गई दवा से भी परहेज नही करना चाहिये। आप दोनों को साथ में ले सकते हैं। 

6. थकान व तनाव दूर करने मे सहायक –

थकान और तनाव की समस्या बहुत साधारण है जो सभी को होती है, थकान तन का बोझ ढोती है और तनाव मन का। इस समस्या से निजात पाने के लिए एक नाम पनीर के फूल का भी शुमार है।

पनीर के फूल में गुणों की भरमार होती जो शरीर के साथ साथ दिमाग का भी बहुत ख्याल रखता है, इस प्रकार कहा जा सकता है की पनीर के फूल का सेवन थकान और तनाव को कम करने में मददगार हो सकता है। 

7. सर्दी-जुकाम और बुखार में फायदेमंद –

सर्दी-जुकाम और बुखार ये तीनों समस्याएं ऐसी हैं जो मौसम पर काफी हद तक निर्भर करती है, इसलिए ऐसे मौसम में इन समस्याओं से बचने के लिए पनीर के फूल को इस्तेमाल में लाया जा सकता है। पनीर के फूल को काढ़े का रूप देकर इसका सेवन सर्दी,  जूखाम, बुखार से आराम दिला सकता हैहै। इसमें कई ऐसे गुणकारी तत्व भी शुमार हैं जो प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने मे मदद करता है और साथ ही हमारे पाचन क्रिया को भी बेहतर करता है। 

पनीर के फूल के उपयोग –

अब तक आपने पनीर के फूल के बारे में और इसके कई फायदों के बारे में विस्तृत रूप से जान लिया होगा और आप सोच रहे होंगे की इसका उपयोग कैसे करते हैं? तो देर न करते हुए जानते हैं की पनीर के फूल को उपयोग में लाने के कौन कौन से तरिके हैं। – 

1. काढ़े के रूप में –

पनीर के फूल को आप काढ़े में भी मिला कर इसका सेवन कर सकते हैं, ये सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। और आपको बता दें की पनीर के फूल को साधारण tarike तरीके से भी खाया जा सकता है। 

2. पनीर के फूल का चूर्ण –

पनीर के फूल का चूर्ण भी आता है जिसके सेवन से गैस एवं पेट दर्द कि समस्या  से निजात पाने के लिए किया जाता है। पनीर के फूल का चूर्ण बहुत उपयोगी होता है। 

3. पनीर के फूल का पानी होता है असरदार –

पनीर के फूल का पानी पीने से कई रोगों से बचा जा सकता है। इसके पानी का उपयोग करने के लिए रात को सोने से पहले 10, 12 फूलों को पानी मे भिगोकर रख दे और सुबह होते ही खाली पेट पनीर के फूल के पानी का सेवन करें। 

पनीर के फूल के नुकसान –

पनीर का फूल को आपके लिए एक नया फूल भी हो सकता है इस फूल से होने वाले फायदे एवं इसे उपयोग में कैसे लाये इस बात को विस्तृत रूप से जान लिया होगा पर अब सवाल ये उठता है की क्या इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं? 

तो आप बिल्कुल सही सोच रहे हैं, कोई भी खाद पदार्थ सेहत के लिए कितना ही अच्छा क्यों न हो उसके कुछ दुष्प्रभाव भी होते है।

पनीर के फूलों से होने वाले नुकसान कुछ इस प्रकार हैं। –

  1. गर्भवती महिलाओं को पनीर के फूल को अपने आहार में शुमार करने से पहले एक बार चिकित्सक से परामर्श अवश्य करना चाहिए। 
  2. ज़रूरत से अधिक पनीर के फूल को नहीं खाना चाहिये अन्यथा ये स्वास्थ्य को नुकसान पहुँचा सकता है। 
  3. पनीर के फूलों का सेवन अधिक मात्रा में करने से उल्टी एवं गैस जैसी समस्याए हो सकती है।
  4. अगर आप पहले से किसी रोग से ग्रस्त है और दवाइयाँ ली रहे हैं तो आपको पनीर के फूल की खाने से पहले डॉक्टर से सलाह मशवरा लेने की ज़रूरत है।

निष्कर्ष –

आज आपने इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ नया जाना होगा, नया से हमारा तात्पर्य पनीर के फूल से है जो आप में से बहुतों के लिए अंजाना होगा लेकिन इस आर्टिकल की पढ़ने के बाद आपने इसके बारे में बारीकी से जाना होगा। तो इसे प्रयोग में लाने से पूर्व हमेशा इसके फायदे व नुकसान दोनों को ज़हन में रखे ताकि आपको और आपके अपनों को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।

हमारा उद्देश्य आपको एक लाभकारी फूल के बारे में बताना था जो आपके स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखे और आपके लिए फायदेमंद हो। पर इस लेख को पढ़ने के बाद पनीर के फूल का इस्तेमाल करने के लिए आप अपने नज़दीकी डॉक्टर से राय ले सकते हैं। हमे उम्मीद है ये आर्टिकल आपके लिए लाभकारी रहा होगा और आपको इसे पढ़कर कुछ नया जानने को मिला होगा, ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए आप जुड़ सकते है हमारे साथ।

Leave a Comment